EXCLUSIVE

शिवड़ी टीबी अस्पताल से गायब हुआ मरीज

Posted on


Advertisements

अंग्रेजी-मराठी के छात्रों को मिलेंगे पांच अंक

Posted on


दूसरी पत्नी ने सौतेली बेटी के साथ मिलकर की नई दुल्हन की हत्या

Posted on


दूसरी पत्नी ने सौतेली बेटी के साथ मिलकर की नई दुल्हन की हत्या

  • सौतेले बेटी के साथ मिलकर तीसरी पत्नी का हत्या
  • हत्या करने के लिये सौतेली बेटी का ब्वॉयफ्रेंड ने दिया साथ

मुंबई :- देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में अनोखी वारदात सामने आई है. यहां एक शख्स की दूसरी पत्नी ने पहली पत्नी की बेटी के साथ मिलकर तीसरी पत्नी की हत्या कर दी. इसमें पहली पत्नी की बेटी के ब्वॉयफ्रेंड ने भी साथ दिया.

मामला मुंबई के नालासोपारा का है, जहां ठेके में मजदूरी का काम करने वाले सुशील मिश्रा ने 32 साल की महिला योगिता देवरे से तीसरी शादी कर ली थी. इसके चलते उसकी दूसरी पत्नी पार्वती माने बेहद नाराज हो गई. इसके बाद उसने पहली पत्नी की बेटी और उसके ब्वॉयफ्रेंड के साथ मिलकर योगिता देवरे को मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने आरोपी महिला पार्वती माने को गिरफ्तार कर लिया है.

बताया जा रहा है कि सुशील की पहली पत्नी उत्तर प्रदेश में रहती है. उनके साथ पहली पत्नी के दो बच्चे भी रहते हैं. एक साल पहले सुशील ने योगिता देवरे से तीसरी शादी की थी. आरोपी महिला पार्वती के मुताबिक तीसरी शादी के बाद सुशील उसे और दो बेटियों को छोड़कर योगिता के साथ उसके घर पर ही रहने लगा था. बताया ये भी जा रहा है कि सुशील दूसरी पत्नी को पैसे भी नहीं देता था और तीसरी पत्नी के सामने उसने दूसरी पत्नी को अपमानित भी किया था. साथ ही सुशील सभी से कह रहा था कि उसका अब पार्वती से कोई भी संबंध नहीं है.

इसके बाद ही पार्वती ने योगिता की हत्या करने की प्लानिंग की. इस बीच सुशील जब अहमदाबाद में एक शादी में शामिल होने गया तो पार्वती अपने सौतेली बेटी और उसके ब्वॉयफ्रेंड के साथ योगिता के घर में आई और उसकी हत्या कर दी.

अंडरवर्ल्ड डॉन  मन्या सुर्वे  रिटर्न से दहशत 

Posted on


अंडरवर्ल्ड डॉन मन्या सुर्वे रिटर्न से दहशत

  • 5 महीने बाद दर्ज करायी शिकायत

  • आता परत आला मन्या सुर्वे

मुंबई | अंडरवर्ल्ड डॉन मनोहर अर्जुन सुर्वे उर्फ मन्या सुर्वे से प्रभावित होकर एक युवक ने वडाला इलाके में दहशत फैलाने का प्रयास किया | उसने एक व्यक्ति पर तलवार से हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया. इसके बाद से ही उसकी इलाके में दहशत थी | वह अपने को मन्या सुर्वे बताकर लोगों को डरा धमका कर हफ्ता मांगता था. वडाला पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है. पोर्ट जोन की पुलिस उपायुक्त रश्मि करंदीकर ने बताया कि वडाला पुलिस ने आरोपी वैभव सुर्वे को रत्नागिरी से गिरफ्तार किया है. उसने 11 सितंबर 2018 को वडाला में केजे पुट्टेगौड़ा नामक व्यक्ति पर जान लेवा हमला किया था. इस हमले में उसके दाहिने हाथ का अंगूठा कट गया था. उसका बांया हाथ तलवार के वार अपंग हो गया था. गौड़ा का जेजे अस्पताल में दो महीने तक इलाज चला था. आरोपी सुर्वे के दो साथियों ने जेजे अस्पताल में जाकर गौड़ा को धमकी दी थी कि अभी तो दोनों हाथ कटे हैं. यदि पुलिस में शिकायत की, तो क्या-क्या कटेंगे. यह सोच भी नहीं सकते हो.

5 महीने बाद दर्ज करायी शिकायत

गौड़ा पिछले पांच महीने तक दहशत में था. वह साहस कर पांच महीने बाद 25 फरवरी को वडाला पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवायी. गौड़ा ने पुलिस को बताया कि वह वर्ष 2003 से मुंबई में रहता था और होटल में वेटर के रूप में काम करता था. वह वारदात के एक साल पहले मुंबई छोड़ दिया था और अपने मूल गांव के पास बाजार में ढ़ाबा चलाने लगा था. वह गणपति उत्सव में मुंबई आया था. 11 सितंबर 2018 को माटुंगा में जीएसबी सेवा मंडल के गणपति बप्पा के दर्शन करने गया था. वह अपने एक दोस्त के पास वडाला आया. वह उसके घर के पास बाहर बैठा था. वहां वैभव सुर्वे बाइक से अपने एक साथी के साथ आया. वह गौड़ा के दोस्त से हाथ मिलाया और वापस चला गया. कुछ देर बाद सुर्वे वापस आया और गौड़ा के दोस्त के पास बाइक खड़ी कर दी. सुर्वे के बाइक पर पीछे बैठे युवक ने उसे पेपर में लपेटी हुई तलवार दी.

आता परत आला मन्या सुर्वे

सुर्वे तलवार घुमाते हुए कहने लगा कि आता परत आला मन्या सुर्वे, सर्वांची वाट लाऊन टाकतो. गौड़ा वहां से अपने दोस्त को चलने के लिए कहा. वह अपनी कार में जैसे ही बैठने गया. सुर्वे ने उसकी कार पर तलवार से वार किया. गौड़ा उसे ऐसा करने से रोकने गया, तो सुर्वे ने उस पर ही तलवार से हमला कर दिया. इस हमले में उसके एक हाथ का अंगूठा कट गया और दूसरे हाथ पर वार किया.

अपंग होने से शादी टूटी

गौड़ा दोनों हाथ से अपंग हो गया. मुंबई आने से पहले उसकी सगाई हुई थी. वह मुंबई से वापस जाने के बाद शादी करने वाला था . दोनों हाथ से अपंग होने के कारण उसकी शादी टूट गयी.

कौन था मन्या सुर्वे

दादर के आगर बाजार में रहने वाले गैंगस्टर मनोहर अर्जुन सुर्व उर्फ मन्या सुर्वे की मुंबई में वर्ष 1981-82 में दहशद थी. पहले हिंदू डॉन कहलाने वाले सुर्वे पुलिस के लिए आतंक का पर्याय बन गया था. उसका डी गैंग से आए दिन गैंगवार होता थी. सुर्वे ने कई पुलिस वालों पर भी जानलेवा हमला किया था. दाऊद इब्राहिम की टीम पर मुंबई पुलिस ने उसका वडाला में एनकाउंट किया. यह मुंबई का पहला एनकाउंटर था. उस पर फिल्म ‘ शूट ऑउट एट वडाला ‘ बना है |