Month: October 2015

महाराष्ट्र राज्य के 5 आईएएस अफसर निलंबित और 1 हुआ बर्खास्त

Posted on


सरकार बदली लेकिन व्यवस्था बदली नही हैं, ऐसा शोर हमेशा सुनने आता हैं। राज्य सरकार को चलाने में आईएएस अफसरों की भूमिका महत्वपूर्ण होती हैं। महाराष्ट्र राज्य के 5 आईएएस अफसर गत 3 वर्ष में निलंबित हुए है और 8 वर्ष में सिर्फ एक ही आईएएस अफसर बर्खास्त होने की जानकारी आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली को महाराष्ट्र सरकार ने दी हैं। आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने महाराष्ट्र सरकार से गत 10 वर्ष में आईएएस अफसरों पर हुई कारवाई की प्रक्रिया के अलावा आईएएस अफसरों का निलंबन, बर्खास्ती और उनके विरोध में प्राप्त शिकायतें और उनपर की गई कारवाई की जानकारी मांगी थी। सामान्य प्रशासन के अवर सचिव ज.बा. कुलकर्णी ने अनिल गलगली को बताया कि दिनांक 21 जून 2012 को मंत्रालय में लगी आग दुर्घटना में उनके कार्यासन का सभी तरह का रेकॉर्ड नष्ट हुआ हैं। उसके बाद 5 आईएएस अफसरों पर निलंबन की और 1 आईएएस अफसर को बर्खास्ती की कारवाई की गई। वर्ष 2007 में विजय कुमार अग्रवाल, आईएएस को बर्खास्त किया गया। दिनांक 21 जून 2012 को मंत्रालय में लगी आग दुर्घटना में उनके कार्यासन का सभी प्रकार का रेकॉर्ड नष्ट होने से उसकी और जानकारी देना मुश्किल होने का दावा कुलकर्णी ने गलगली से किया हैं। निलंबित आईएएस अफसर का नाम और बर्खास्त आईएएस अफसरों की जांच की कारवाई अब भी खत्म नही होने से सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 8(1)(ज) के अनुसार इसकी जानकारी फ़िलहाल नही दी जा सकती हैं। अनिल गलगली के अनुसार हर एक सरकार इन्हीं आईएएस अफसरों पर विश्वास रखती हैं लेकिन जनहित काम में जिस तरह से गती देना आवश्यक होता है उसे देने में यहीं आईएएस अफसर असफल साबित होते हैं। खुद के काम में अधिक रुचि लेने से आईएएस अफसरों की निलंबन में वृद्धि होने की बात अनिल गलगली ने कही हैं।

Advertisements

रत्नागिरी का हापुस एपीएमसी मार्केट में दाखिल

Posted on


नवी मुंबई : फलो का राजा के रूप में पहचाने जाने वाले कोकण का हापूस आम सोमवार को वाशी स्थित एपीएमसी मार्केट में दाखिल हो गया है | हमेशा दिसंबर आखरी या जनवरी के पहले सप्ताह में आने वाला हापूस इस वर्ष दो महिना पहले ही आगमन किया है | इसके कारण इस वर्ष आम का सीजन जल्द ही सुरु होने की संभावना व्यापारियों ने जताया है |
            एपीएमसी मार्केट के आम व्यापारी दिनकर महाबरे के यहा आज आम का पेटी आया था | रत्नागिरी जिले के हरणे  तालुका के किसान उदय नरवणकर के खेती का हापूस सव्वा चार दर्जन का पेटी मार्केट में विक्री के लिए आया है |जून, जुलाई मध्ये  बरसात के कारण पेड़ को अगस्त महीने में ही फल आ गया था | उसके बाद ठंडी के कारण आम पेड़ पर तैयार होने की जानकारी किसान उदय नरवणकर ने दिया | इसके साथ इस वर्ष आम का उतपादन समाधान कारक होने की जानकारी व्यापारी दे रहे है | वाशी स्थित एपीएमसी मार्केट में अभी तक दिसंबर आखरी या जनवरी पहले सप्ताह में हापूस आम दाखिल होता था | उसके कुछ दिन बाद बड़े पैमाने पर  हापूस आम आना सुरु हो जाता था | मौसम ने साथ दिया तो इस वर्ष हापूस खाने वालो को जल्द ही हापूस का स्वाद लेने मिलेगा | आज मार्केट में आये हापूस 5 से 6 हजार रुपये दर्जन से  विक्री किया गया |


Nagmani Pandey

image

Reporter, Hamara Mahanagar
9322379123
http://www.hamaramahanagar.in

Working towards the betterment of the Society    

न्याय के लिए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया तो बेटे पर लगा मकोका

Posted on


182 दिन की हुई जेल
अब पुलिस वालों में मची खलबली
मुंबई :अपने भाई के बेटे की संदिग्ध मौत पर शक जाहिर करते हुए न्याय के लिए मुंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने वाले एक व्यक्ति के बेटे को 182 दिन जेल में ठूंसने का काम भी पुलिस ने किया।फरियादी के बेटे के खिलाफ कई संगीन मामला दर्ज करने के साथ-साथ पुलिस ने उस पर मकोका यानी एमसीओसीए के तहत कार्यवाई की,साथ ही उसके खिलाफ ठाणे जिले के अलग-अलग पुलिस थानो में कुल 68 मामले दर्ज किये जो की निराधार साबित होने लगे हैं।जबकी अब ठाणे शत्र न्यायालय ने पीड़ित को  जमानत पर रिहा कर दिया है।जिसका नाम मजलूम फैयाज ईरानी उर्फ़ जग्गू बताया जाता है।इस मामले की जानकारी फैलते ही दोशी दर्जनों पुलिस वालों में खलबली मच गई है।
             मुंबई के पवई इलाके के हीरानंदानी कॉम्पलेक्स निवासी वरिष्ट अधिवक्ता गणेश अय्यर ने बताया की कल्याण स्थित अंबीवली गांव निवासी मजलूम फैयाज ईरानी उर्फ़ जग्गू पुलिस का मोस्ट इंपॉर्टेंट खबरी है।जग्गू के चचेरे भाई हैदर जानी की गत दिनों पुलिस की कस्टडी में मौत हो गई थी।बताया जाता है की गत मार्च 2015 में अंबेवली गाँव में 400 से 500 पुलिस ने चारों तरफ से घेर कर कोबिंग ऑपरेशन किया।इस कोबिंग ऑपरेशन में पुलिस ने 8 से 10 गांव के निवासियों को पकड़ा था।जिसमें पीड़ित का चचेरा भाई हैदर भी शामिल था।इस मामले में हैदर जानी सैय्यद की पुलिस पिटाई के चलते मौत हो गई थी ! इसके बाद पुलिस ने उसके शव को यहाँ के एक डेम मतलब नदी में फेंक दिया था।इस घटना के बाद उसके परिजन सदमे में थे।ठाणे ग्रामीण पुलिस के जॉइंट कोबिंग ऑपरेशन में हुई हैदर की मौत पर पूरा परिवार गमगीन था।बताया जाता है की पुलिस ने सोची समझी रणनीत के तहत घोषित किया की आरोपी भाग कर खुद आत्महत्या की है।इस मामले को लेकर उसके परिजन और जग्गू ने मुंबई उच्च न्यायालय में याचिका क्रमांक 2899/2015 दायर कर न्याय की गुहार लगाईं गई थी। इसकी जानकारी जब संबंधित पुलिस वालों को लगी तो जग्गू को पकड़कर झूठे मामले में फंसा दिया,इसके अलावा उस पर मकोका के तहत कार्यवाई कर उसे जेल में ठूंस दिया।अधिवक्ता गणेश अय्यर ने बताया की मामले की गंभीरता को देख सारे प्रमाण हमने जमा किया।ठाणे के न्यायालय में चली लंबी लड़ाई के बाद न्यायधीश को इस घटना की पूरी जानकारी दी गई।मृतक मरा नहीं मारा गया था।इसके सब प्रमाण न्यायालय को दिए गए।सूत्र बताते हैं की इस मामले में फंसे सभी पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ न्यायालय के आदेश पर जल्द कार्यवाई होगी ! जिसके चलते इस मामले में शामिल पुलिस वाले काफी परेशान हैं।

image

18 महीने में 5 करोड़ का बिजली बिल

Posted on


नवी मुंबई :नवी मुंबई महापालिका  मुख्यालय की तथाकथित  ग्रीन बिल्डिंग  किस तरह से सफ़ेद हाथी साबित हो रही है इसका खुलासा इसके बिजली बिलों से पता चलता है .करीब 20 माह में 5 करोड़ से ज्यादा का बिजली का भुगतान इस मुख्यालय का किया जा चुका है .वैसे तो शहर के जनप्रतिनिधि लोगों के टैक्स के पैसे बचाने और उनके सदुपयोग को लेकर लम्बे – लम्बे भाषण देते नहीं थकते लेकिन मुख्यालय के बिजली बिलों को लेकर सबकी ख़ामोशी है . नवी मुंबई महानगरपालिका के इस मुख्यालय को करीब 200 करोड़ रुपये रुपये खर्च कर बनाया गया था.और उद्घाटन के बाद से अब तक करीब 20 माह में इसमें मरम्मत और देख भाल के नाम पर भी 5 करोड़ से ज्यादा खर्च किया जा सका है .इन दोनों खर्चों के अलावा एक और बड़ा खर्चा है इस ईमारत की साफ़ सफाई का . यदि इन सभी खर्चों को जोड़ा जाय तो मनपा मुख्यालय के ऊपर प्रतिमाह 75 से 80 लाख रुपये का खर्च किया जा रहा है . यह पैसा शहर की जनता से वसूले गए टैक्स से खर्च हो रहा है .
पालिका मुख्यालय का  प्रति माह बिजली बिल

दिसंबर  २०१३— ७,२३,६१२
जनवरी —२०१४— ८,६३,८३७
फरवरी -20  १४—-१३,६८,६६०
मार्च १४ —–११,४६,१६०
अप्रैल  १४ —-३०,३५,५३०
मई  १४ ——-१३,८४,९६०
जून १४ —– २७,३४,७००
जुलाई  १४—- १३,८४,९६०
अगस्त १४ —२३,३६,३६०
सितम्बर  १४ —२४,१४,५७०
अक्टूबर  १४ —२१,२३,७१०
नवम्बर  १४ —-२८,६४,४७३
दिसंबर  १४ —२६,७५,४६०
जनवरी  २०१५ —२३,७८,७१०
फरवरी १५ —–२१,२२,३१०
मार्च १५ —–२८,७८,०१०
अप्रैल  १५—- २५,९७,३७०
मई १५—– २७,२१,७८०
जून १५ —-३२,३१,२१७

शिवजी पार्क में दशहरा रैली पर सबकी नजर

Posted on


क्या कहेंगे उद्धव ,

मुंबई। भाजपा शिवसेना की तमाम कड़वाहट को लेकर देश भर के दिग्गज राजनीतियों की निगाहे गुरूवार को शिवजी पार्क में होने वाली शिवसेना की दशहरा रैली पर टिकी है।  इस रैली में शिवसेना अध्यक्ष क्या बोलेंगे , उद्धव का निशाना किसकी तरफ होगा यह सभी सवालों को लेकर राजनीतिज्ञ इसके इंताजर में है। शिवसेना के स्वर्ण महोत्सव के अवसर पर यह रैली कुछ खास हो सकती है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार दशहरा रैली शिवसेना के लिए परंपरा बन चुकी है और इस बार शिवसेना स्वर्ण महोत्सव मना रही है। इस रैली के अम्ध्यम से शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे शिवसैनिकों में सन्देश देते थे। उसी सन्देश के जरिये वर्ष भर शिवसैनिक काम करते थे बालासाहेब ठाकरे के निधन के बाद अब उसी परम्परा को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने जारी रखा है। स्वर्ण महोत्सव होने के नाते तो यह रैली खास है ही लेकिन दूसरी तरफ पिछले एक वर्ष से विभिन्न कारणों के चलते शिवसेना और भाजपा में बढ़ रही कड़वाहट , वाही भाजपा और राकांपा में बाद रही नजदीकियों को लेकर शिवसेना परेशान हो चुकी है साथ ही एक वर्ष में राजनीती में बड़ी उठापठक हुई है ऐसे में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे इस रैली के माध्यम से अपने शिवसािनकों को क्या सन्देश देंगे यह सुनने और देखने लायक होगा। भाजपा शिवसेना के बीच चल रही कड़वाहट को लेकर कई बार इनके बीच सम्बन्ध टूटने की खबरे भी तेजी से चली लेकिन फिर दोनों संभल गए , किन्तु पिछले एक महीने से कोई न कोई मुद्दे पर दोनों भीड़ जा रहे है , चाहे वह पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद कसूरी के पुसतक विमोचन का मामला हो या फिर बीसीसीआई में पाकिस्तान क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अधिकारीयों की बैठक हो, इसके लावा ताजा मामल आया है पोस्टर वार का जिसमे शविसेना ने भाजपा के नेताओं को बालासाहेब ठाकरे के सामने झुकते दिखाया है। इस पोस्टर वार को लेकर दोनों के बीच और खटास बढ़ गई है। 
उद्धव इस रैली में शिवसैनिकों को सन्देश देंगे उनक सन्देश क्या होगा और इस मौके अपर वे अपने सहयोगी दलों समेत केंद्रीय सरकार पर क्या कटाक्ष करेंगे इस राकंपा समेत कांग्रेस के नेताओं की नजर बानी हुई है।
सूत्रों की माने तो उद्धव ने इस रैली में बड़ी संख्या में शिवसैनिकों को उपस्थित होने का निर्देश दिया है। इस रैली से शिवसेना अपनी ताकत का प्रदर्शन भी करेगी।  इस लिए इस पर शिवसेना की प्रतिष्ठा भी डाव अपर लगी है।
बतादें शिवसेना इस रैली को सफल बनाने के लिए पूरा जोर लगा रही है।  इसमे लगभग ४ लाख शिवसैनिक जमा होंगे इस रैली के आयोजन को लेकर पुलिस ने भी सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने में लगी है। 

मराठी माध्यम के शिक्षक – हिंदी माध्यम के विद्यार्थी

Posted on


यह है मनपा के विद्यालयों का हाल
नागमणि पाण्डेय

नवी मुंबई ,यूं तो नवी मुंबई महानगरपालिका अपने विद्यालयों में दर्जेदार शिक्षण की बात करती है लेकिन विद्यालयों की स्थिति कुछ और ही बयान करती है। मनपा के विद्यालयों में शिक्षा का आलम यह है कि अभी भी 24 मराठी माध्यम के शिक्षक हिंदी माध्यम के बच्चों को पढ़ाई करा रहे हैं।  जानकारी के अनुसार ये 24 मराठी माध्यम के शिक्षक मनपा की 6 हिंदी माध्यम की स्कूलों में ज्ञान प्रदान कर रहे हैं। मनपा के यादव नगर ,सुभाष नगर ,घणसोली ,गौतम नगर ,कोपर  खैरने व तुर्भे में हिंदी माध्यम के विद्यालय हैं ये सभी शिक्षक इन विद्यालय के विद्यार्थियों को पढ़ाते हैं। बताया जाता है कि मनपा के शिक्षण मंडल के अधिकारी इस ओर  ध्यान नहीं देते लिहाजा वर्षों वर्ष ये पद रिक्त पड़े हैं और इन पर मराठी माध्यम के शिक्षक नियुक्त कर खानापूर्ति की जाती है।  विद्यालय में आने वाले बच्चे इन शिक्षकों से क्या पढ़े और क्या नहीं पढ़े इससे शिक्षण मंडल के अधिकारियों का क्या लेना देना।
खेलकूद व कला के शिक्षक ही नहीं –

यही नहीं मनपा के विद्यालयों में शारीरिक शिक्षा ( पी टी ) के शिक्षक और कला के शिक्षक लगभग नहीं के बराबर हैं ऐसे में विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास कैसे होगा यह बहुत बड़ा प्रश्न है। पूर्व  महापौर सागर नाईक  बार बार शहर में खेलकूद की गतिविधियाँ बढ़ाने और खेलों को प्रोत्साहन देने की बात की थी  लेकिन मनपा के विद्यालयों में कभी इसको ठीक से लागू ही नहीं किया गया .  जब खेलकूद के शिक्षक ही विद्यालयों में नहीं है तो हम खेलों के प्रति विद्यार्थियों को कैसे प्रोत्साहित कर सकेंगें और किस तरह से राष्ट्रीय या अंतर राष्ट्रीय स्तर  का खिलाड़ी तैयार कर पायेंगें।


Nagmani Pandey
Reporter, Hamara Mahanagar
9322379123
http://www.hamaramahanagar.in

Working towards the betterment of the Society    

सिडको बनाएगी एविएशन एकेडमी

Posted on


एकेडमी करेगा  नवी मुंबई के प्रस्तावित एयरपोर्ट की मैनपॉवर जरूरतों को पूरा
नागमणि पाण्डेय
नवी मुंबई : प्रस्तावित नवी मुंबई  एयरपोर्ट की मैनपॉवर जरूरतों को पूरा करने के लिये सिडको ने एविएशन एकेडमी स्थापित करने का निर्णय लिया है ।इस एकेडमी के माध्यम से प्रस्तावित एयरपोर्ट के लिए आवश्यक मैनपावर की जरुरतो को पूरा करने में मदगार साबित होने की जानकारी सिडको की संयुक्त प्रबंधक निदेशक वी राधा ने वाशी में दिया । इस के साथ ही उन्होंने बताया की अगले वर्ष से एयरपोर्ट का काम सुरु कर वर्ष 2019  तक पूरा कर दिया जायेगा ।
       सिडको की संयुक्त प्रबंध निदेशक वी राधा ने  बताया कि  सिडको, नवी मुंबई एयरपोर्ट प्रोजेक्ट के लिये नोडल एजेंसी है और इस एयरपोर्ट प्रोजेक्ट का काम मंजूरी हासिल करने और लंबिंत अनुमति एवं मंजूरी हासिल करने के अंतिम दौर में है. संयुक्त प्रबंध निदेशक के मुताबिक, प्रोजेक्ट से जुड़ी सभी बड़ी मंजूरी हासिल करने जैसे कि विमानन मंत्रालय, पर्यावरण तथा वन मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय से पर्यावरण और एसईजेड जैसी तमाम मंजूरी और अनुमोदन प्राप्त करने का काम लगभग हो चुका है और महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मंजूरी हासिल कर ली गई है.  राधा के मुताबिक जैसे ही एयरपोर्ट का काम शुरू होगा, करीब एक लाख कर्मचारियों की जरूरत पड़ेगी और इसी जरूरत को पूरा करने के लिये सिडको पहले ही तैयारी शुरू करते हुये एविएशन एकेडमी शुरू करने जा रही है ताकि लोगों को काम के लिये प्रशिक्षित किया जा सके. 


Nagmani Pandey
Reporter, Hamara Mahanagar
9322379123
http://www.hamaramahanagar.in

Working towards the betterment of the Society